‘मैं अंधविश्वास नहीं पालता’, DHONI ने बताया क्यों चुना था जर्सी के लिए नंबर 7

DHONI and No. 7 Jersey Saga: खेल जगत में जर्सी और जर्सी पर छपे नंबर का बड़ा ज्यादा ही महत्व होता है. इसी क्रम में है 7 नंबर की जर्सी. इस 7 नंबर की जर्सी को विश्व में काफी ज्यादा फेमस माना जाता है. जर्सी नंबर 7 को ब्रांड बनाने वाले पहले शख्स थे क्रिस्टियानो रोनाल्डो. तो वहीं भारत में इस जर्सी की अब पूजा की जाती है वो भी महेंद्र सिंह धोनी की वजह से. धोनी ने जब इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू किया तो 7 नंबर की जर्सी को अपना बनाया. धोनी ने इस 7 नंबर का ही चुनाव क्यों किया इसका कारण भी अब उन्होंने खुद बताया है. साथ ही किसी भी तरह के अंधविश्वास से साफ इंकार किया है.

DHONI ने 7 नंबर की जर्सी चुनने का बताया साधारण कारण

हाल ही में चेन्नई सुपर किंग्स के मालिक इंडिया सीमेंट्स द्वारा रखे गए एक आयोजन में धोनी ने बताया कि 7 नंबर उनके दिल के काफी करीब है. धोनी कहते हैं कि मैंने बहुत ही जगह कहानियां सुनी है कि आखिर मैंने ये नंबर ही क्यों चुना? इसके पीछे का इतिहास क्या है? मगर मैं आपको बता दूं कि इसे चुनने का कारण साधारण ही है.

7 नंबर चुनने की वजह बताई

धोनी (DHONI) ने बात करते हुए बताया कि बहुत लोगों को लगता है कि 7 नंबर मेरे लिए लकी है इसलिए मैंने इसे अपने जर्सी पर धारण किया है. मगर मेरा कारण बहुत ही ज्यादा सरल था क्योंकि मेरा जन्मदिन 7 जुलाई को होता है. तो आसान शब्दों में देखा जाए तो मेरा जन्मदिन साल के सातवें महीने में सातवें दिन होता है. यही कारण था कि मैंने 7 नंबर अपनी जर्सी पर चुना.

Read Also: Gautam Gambhir ने चुनी क्रिकेट इतिहास की सर्वश्रेष्ठ प्लेइंग 11, इस भारतीय को कप्तानी देकर किया हैरान

धोनी (DHONI) आगे कहते हैं कि बेकार के अंधविश्वास में फंसने से अच्छा मुझे ये लगा कि मैं अपनी जन्म तिथी को ही अपना लूं. कई बार जब लोगों ने मुझसे पूछा तो मैंने उन्हें झूठी कहानियां भी सुनाई. 81 साल था, 8-1 फिर से 7, 7 एक बहुत ही करीबी अंक है. लोगों ने उसे सच भी माना.

बोले अंधविश्वासी नहीं हूं मैं

धोनी बताते हैं कि कई लोगों ने उन्हें बताया कि 7 एक काफी अच्छा अंक है. क्योंकि अगर यह आपका फायदा नहीं करवाता है तो नुकसान भी नहीं करवाता है. तो मैंने अपने उत्तर में इसे भी जोड़ लिया कि जब कोई मुझसे पूछेगा तो मैं ये बता दिया करूंगा. धोनी कहते हैं कि मैं अंधविश्वासी नहीं हूं. यह बस एक नंबर है जो मेरे दिल के काफी ज्यादा करीब है बस.

Read Also: धोनी की कप्तानी में सबसे बड़े मैच विनर थे ये 2 खिलाड़ी, कोहली के कप्तान बनते ही हुए फ्लॉप

 

error: Content is protected !!