वीडियो: ‘छिपे रुस्तम पुजारा’ एक ओवर में ठोके 22 रन, 73 गेंद पर शतक ठोक लाई सुनामी

भारत के प्रमुख टेस्ट क्रिकेटर चेतेश्वर पुजारा की बल्लेबाजी को उनकी अपार रक्षात्मक क्षमताओं से परिभाषित किया गया है, विपक्षी हमले को निराश करने के लिए डिलीवरी के बाद डिलीवरी को रोकना और अधिकांश ढीली गेंदें बनाना. 2018 में पुजारा ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जोहान्सबर्ग टेस्ट में 53 गेंदें ली थीं अपना खाता खोलने के लिए.

जो इस सदी में किसी भी शीर्ष क्रम के बल्लेबाज द्वारा सबसे अधिक है. लेकिन शनिवार को, बर्मिंघम में क्रिकेट प्रशंसकों ने पुजारा को पहले कभी नहीं देखे गए अवतार में देखा. क्योंकि अनुभवी भारत के बल्लेबाज ने वारविकशायर के खिलाफ रॉयल लंदन वन-डे कप टाई के दौरान ससेक्स के लिए अपने तेज शतक के लिए एक ओवर में 26 रन बनाए.

चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) ने ससेक्स के लिए खेलते हुए शुक्रवार को एजबेस्टन में वारविकशायर (Warwickshire vs Sussex) के खिलाफ खेले गए रॉयल लंदन वनडे कप (Royal London One-Day Cup 2022) के मुकाबले में तूफानी शतक से धमाल मचा दिया. टीम की कप्तानी करते हुए पुजारा ने 79 गेंदों में सात चौकों और दो छक्कों की मदद से 107 रनों की पारी खेली, जिसमें सात चौके और दो छक्के जड़े. इस दौरान उन्होंने पारी के 45वें ओवर में 22 रन बना डाले.

ससेक्स को पारी के आखिरी छह ओवरों में 70 रनों की दरकार थी. इसके बाद पुजारा इंग्लैंड ले लियाम नॉरवेल (Liam Norwell) जमकर बरसे. अपने कोटे का फाइनल ओवर कर रहे नॉरवेल के खिलाफ पुजारा ने  4, 2, 4, 2, 6,4 रन बनाए। जिसके बाद मुकाबला काफी हद तक बराबरी पर आ गया.

हालांकि पुजारा की यह पारी ससेक्स की जीत के लिए नाकाफी साबित हुए। वारविकशायर ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 6 विकेट के नुकसान पर 310 रन बनाए. इसके जवाब में ससेक्स 7 विकेट गंवाकर 306 रन ही बना सकी. ससेक्स तीन मैचों में यह पहली हार है. वारविकशायर की जीत में क्रुणाल पांड्या का भी अहम योगदान रहा, जिन्होंने गेंदबाजी में तीन विकेट अपने खाते में डाले.

बता दें कि इंग्लैंड की धरती पर पुजारा लगातार शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं. उन्होंने पहले काउंटी क्रिकेट में 1000 से ज्यादा रन बनाए, जिसकी बदौलत उनकी भारतीय टेस्ट टीम में वापसी हुई. इसके बाद अब 50 ओवर फॉर्मेट में भी उनका जलवा बरकरार है.

error: Content is protected !!