14 साल पहले Dhoni ने मुझे संन्यास लेने पर मजबूर किया था…Sachin ने मुझे रोका

‘Wanted to quit ODIs after Dhoni dropped me but Sachin changed my mind’: Sehwag recalls 2008 Australia tour: वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) जब मैदान में उतरते थे तो गेंदबाज उनका नाम सुनते ही कांप जाते थे। सहवाग ने क्रिकेट (Cricket) के हर फॉर्मेट में आक्रामकता के से खेलते हुए नजर आते थे, फिर चाहे वह टेस्ट मैच हो या वनडे, जिसके चलते उन्होंने फैंस के दिलों में एक अलग जगह बनाई थी। हालांकि सहवाग अपने क्रिकेट करियर में चर्चा में रहते ही थे, लेकिन अब वो रिटायरमेंट के
बाद भी सुर्ख़ियों में बने हुए हैं।

हाल ही में एक खुलासा करते हुए सहवाग ने एमएस धोनी (MS Dhoni) का नाम लिया है, इस दौरान सहवाग ने यह भी बताया कि वह एक समय वनडे क्रिकेट से रिटायरमेंट का बना चुके थे। ये बात उस वक़्त की है जब 2008 ऑस्ट्रेलिया दौरे से सहवाग को धोनी ने वनडे टीम से बाहर कर दिया, जिसके बाद वीरू ने संन्यास लेने का इरादा बनाया था।

क्रिकबज से बातचीत में सहवाग (Sehwag) ने कहा, जब हम 2008 में ऑस्ट्रेलिया में खेल रहे थे तो मेरे दिमाग में संन्यास का सवाल आया। उस समय मैंने टेस्ट सीरीज में अच्छा प्रदर्शन करते हुए 150 रन बनाए थे, हालाँकि 3-4 वनडे मैचों में रन नहीं बना सका, जिसके वजह से महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) ने मुझे प्लेइंग इलेवन से बाहर का रास्ता दिखा दिया। वहीं से मेरे दिमाग में वनडे क्रिकेट से संन्यास लेने और टेस्ट क्रिकेट को जारी रखने का ख्याल आया था।”

सहवाग ने आगे बोलते हुए कहा कि उन्हें वनडे क्रिकेट छोड़ने से सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने रोका था। वीरू ने बताया कि मुझे सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने वनडे से संन्यास लेने से रोकते हुए कहा था कि ये आपकी जिंदगी का मुश्किल वक़्त है, थोड़ा सब्र रखिये। फिर इस दौरे के बाद घर जाओ और आराम से सोच कर इस पर फैसला करना की आगे क्या करना है। सौभाग्य से मैंने उस समय अपने संन्यास की घोषणा नहीं की थी।”

Read Also: Riyan Parag के भविष्य पर राजस्थान ने तोड़ी चुप्पी, बताया अगले साल उनका क्या होगा

Source: HindustanTimes

error: Content is protected !!