ये 3 दिग्गज खिलाड़ी भविष्य में बन सकते भारत के हेड कोच, जानें क्या है इनमें खासियत

भारतीय टीम में समय-समय पर हर फॉर्मेट में बेहतरीन खिलाड़ी देखे गए हैं और यह सिलसिला अभी भी जारी है। मैदान में अच्छा प्रदर्शन करने वाले भारतीय खिलाड़ी मैदान से बाहर भी खुद को खेल से किसी न किसी तरह से कनेक्ट रखते हैं। ऐसे में सबसे प्रमुख कमेंट्री मानी जाती है, वहीँ इसके अलावा कोचिंग भी एक ऑप्शन के तौर पर पूर्व खिलाडियों के लिए हमेशा खुला रहता है।

ऐसे में कई पूर्व भारतीय खिलाड़ी टीम इंडिया के कोच बन चुके हैं और भविष्य में भी कुछ ऐसे खिलाडियों को भारतीय टीम की कोचिंग करते हुए देखा जा सकता है, तो चलिए जानते हैं उनके नाम और उन्होंने अपने क्रिकेट करियर के दौरान कैसी सफलताएँ हासिल की हैं।

रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin as Head Coach)

रविचंद्रन अश्विन की गिनती भारत के दिग्गज ऑफ स्पिन गेंदबाजों में होती है और उन्होंने कई बार बल्लेबाजी में भी अच्छा प्रदर्शन किया है। अश्विन में कोचिंग के सभी गुण हैं, जिससे दूसरे खिलाडियों को क्रिकेट के गुर सिखाए जा सकते हैं। वहीँ अगर ये सवाल खड़ा होता है कि आश्विन एक बॉलर हैं, तो ऐसे में इसका जवाब अनिल कुंबले के कोचिंग कार्यकाल को याद दिलाया जा सकता है।

चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara)

क्रिकेट की ज़बरदस्त टेक्निक रखने वाले चेतेश्वर पुजारा को क्रिकेट का काफी अच्छा-खासा अनुभव है। वह टेस्ट क्रिकेट में बतौर बल्लेबाज़ नज़र आते हैं और दूसरे किसी फॉर्मेट में नहीं खेलते हैं, लेकिन टेस्ट को क्रिकेट की अग्नि परीक्षा मानी जाती है, जिसमें पुजारा को महारत हासिल है, वहीँ उनके अनुभव से दूसरे खिलाड़ी को फायदा पहुंच सकता है और जिसकी वजह से वह कोच बनने में सक्षम हैं।

अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane)

अजिंक्य रहाणे भारतीय टीम के लिए हर फॉर्मेट में क्रिकेट खेल रखा और अपनी बैटिंग स्किल के साथ ही स्लिप फील्डिंग में भी कई कारनामे पेश कर चुके हैं। वहीँ मुश्किल परिस्थितियों में भी टीम को जीत दिलाने का उनका तजुर्बा भारतीय टीम के भविष्य के नए खिलाडियों के काम आ सकता है। ऐसे में यह कहना सही होगा कि वह भारतीय टीम के कोच बनाने की काबिलियत रखते हैं।

Read More: ‘तब सचिन का ऑटोग्राफ लेना चाहता था, फिर सोचा मेरा इंप्रेशन खराब होगा’-Brett Lee

error: Content is protected !!