‘Tendulkar बच्चों को क्या छक्के मारता है, दम है तो मेरी गेंद पर मार…फिर आया तूफान’

मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने 16 साल की छोटी उम्र में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू किया था। जिसके दौरान उनका सामना एक बार पाकिस्तान के दिग्गज स्पिनर अब्दुल कादिर से हुआ, जिसमें सचिन तेंदुलकर की बल्लेबाजी को परखने के लिए अपनी गेंदबाजी पर बहुत ही नाज करने वाले कादिर ने सचिन को मैच बीच में उकसा कर कहा कि अगर दम है तो मेरी गेंद पर छक्का लगाकर दिखाओ’।

दरअसल, ये साल 1989 में एक फ्रेंडली मैच के दौरान की बात है, जब सचिन को पाकिस्तान के स्पिनर अब्दुल कादिर (Abdul Kadir) ने उनकी बोलिंग पर छक्का लगाने के लिए उकसाया था, बता दें कि उस समय विश्व क्रिकेट में सचिन एक नई सनसनी बनकर उभरें थे और उनकी उम्र महज 16 साल थी।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Sachin Tendulkar (@sachintendulkar)

सचिन जब ग्राउंड पर आते तो युवा पाकिस्तानी दर्शक उनका मजाक उड़ाते थे। वहीँ कुछ दर्शक पोस्टर पर ‘दूध पीने वाला बच्चा..घर भेजो और कई तरह की चीज़ें लिखकर उनका मजाक उड़ाते थे, लेकिन इसका सचिन पर कोई असर नही हुआ।

Read More: CSK से हार के बाद Rishabh Pant का बहाना सुन, दिल्ली फैंस ‘चुल्लू भर पानी खोजेंगे’

1989 में पेशावर में हुए प्रदर्शनी मैच में सचिन ने पाकिस्तानी गेंदबाज मुश्ताक अहमद के ओवर में दो छक्के जड़े थे। युवा खिलाड़ी सचिन की ऐसी बल्लेबाजी देखकर पाकिस्तानी टीम के सीनियर खिलाड़ी अब्दुल कादिर भड़क गए। कादिर ने सचिन के पास जाकर कहा ‘तुम बच्चों की गेंद को क्यों मार रहे हो, मेरी पर मार कर दिखाओ’।

कादिर की बातों का सचिन ने कोई जवाब नहीं दिया, लेकिन जब कादिर गेंदबाजी करने आए तो सचिन ने उन्हें बल्ले से करारा जवाब दिया। सचिन ने कादिर के उस ओवर में तीन छक्के लगाए. जब कादिर को अपनी गलती का एहसास हुआ, तो सचिन की बल्लेबाजी देखकर उन्होंने भी तालियां बजाईं और उनके सामने झुक गए।

error: Content is protected !!