वो 6 Part Time Bowlers जिन्होंने Shane Warne से भी ज्यादा विकेट ले रखे हैं

Part Time Bowlers who took more wicket than Regular Bowlers : क्रिकेट (Cricket) के मुकाबले में अक्सर ऐसा कई बार होता है. जब टीम में मौजूद रेगुलर गेंदबाज भी विकेट नहीं ले पाते हैं. तब कप्तान गेंद पार्ट टाइम बॉलर को देता है. ऐसा कप्तान इसलिए भी करता है ताकि बल्लेबाज कोई बड़ा शॉट खेलने की कोशिश करे और उसी में फंसकर आउट हो जाए.

टेस्ट क्रिकेट (Test Cricket) एक ऐसा फार्मेट है जहां पार्ट टाइम बॉलर अपना प्रभाव ज्यादा नहीं डाल पाते हैं. क्योंकि टेस्ट क्रिकेट (Test Cricket) में बल्लेबाजों को बड़े शॉट खेलने की जल्दी नहीं होती है. मगर वहीं बल्लेबाजों को वनडे (ODI) और टी-20 (T-20) में कई बार रन गति बढ़ाने के लिए जबरदस्ती भी बड़े शॉट खेलने पड़ते हैं.

फिल्हाल इस पोस्ट में हम उन पार्ट टाइम गेंदबाजों के बारे में बताने जा रहे हैं. जिन्होंने न ही सिर्फ रेगुलर बॉलर से अच्छी गेंदबाजी की है. बल्कि उनकी विकेट सूची भी कई गेंदबाजों से बहुत ज्यादा अच्छी है.

तो चलिए आपको बताते हैं ऐसे ही कुछ पार्ट टाइम गेंदबाजों के बारे में जिन्होंने कई दिग्गज गेंदबाजों से भी ज्यादा विकेट लिए हैं.

क्रिकेट के इतिहास में अगर कोई नाम सबसे बड़ा है तो वो है सचिन रमेश तेंदुलकर का. सचिन को क्रिकेट का भगवान कहा जाता है. सचिन ने अपनी बल्लेबाजी से तो कई रिकार्ड दर्ज ही करवाएं हैं. मगर उनकी गेंदबाजी भी खास थी. सचिन को आज की पीढ़ी सिर्फ बल्लेबाजी के लिए ही जानती है. मगर उनकी गेंदबाजी के आंकड़े साबित करते हैं कि वो कितने स्मार्ट गेंदबाज थे.

Sachin Tendulkar
Sachin Tendulkar

सचिन तेंदुलकर ने अपने क्रिकेट करियर में टोटल 201 विकेट लिए हैं. सचिन ने कुल 200 टेस्ट मैंचों में 46 तो वहीं 463 वनडे में 154 विकट झटके हैं. इतना ही नहीं सचिन ने भारत के लिए सिर्फ एक टी-20 मैच खेला है उसमें भी उनके नाम एक विकेट दर्ज है.

सचिन का गेंदबाजी स्टाइल काफी ज्यादा ही अलग था. वो अपनी गेंदबाजी में ऑफ स्पिन, लेग स्पिन के साथ तेज गेंद का भी अच्छा इस्तेमाल करते थे.

पॉवर प्ले का असली इस्तेमाल कोई बल्लेबाज किया करता था, तो वो थे श्रीलंका के दिग्गज बल्लेबाज सनथ जयसूर्या. इन्होंने श्रीलंका को कई मैच अकेले ही दम पर जितवाएं हैं. मगर आज की पीढ़ी इस बात को नहीं जानती कि सनथ जितने अच्छे बल्लेबाज थे उतने ही अच्छे गेंदबाज भी.

Sanath Jayasuriya
Sanath Jayasuriya

ये बात काफी कम लोगों को ही पता है कि सनथ ने वनडे मैचों में ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज स्पिनर शेन वार्न से भी ज्यादा विकेट हासिल कर रखा है.

शेन वार्न ने वनडे में 293 विकेट ले रखे हैं. जबकि सनथ के नाम 323 विकेट दर्ज है. इन्होंने ने 110 टेस्ट में 24 विकेट तो 445 वनडे में 323 विकेट झटक रखे हैं. सनथ को 31 टी-20 में 19 विकेट भी हासिल हैं.

पाकिस्तान के खिलाड़ी शोएब मलिक को ज्यादातर लोग बतौर एक बल्लेबाज के तौर पर ही जानते हैं. मगर उन्हें जब टीम में चुना गया था पाकिस्तान की. तो उन्हें बतौर ऑलराउंडर ही चुना गया था.

Shoaib Malik
Shoaib Malik

शोएब मलिक ने अपने क्रिकेट करियर में 218 विकेट हासिल किए हैं. शोएब को 35 टेस्ट मैच में 32 विकेट मिले हैं तो वहीं उन्होंने 287 वनडे मुकाबलों में 258 विकेट झटके हैं. इसके साथ ही आज शोएब टी-20 क्रिकेट का भी बड़ा नाम हैं. इन्होंने 115 टी-20 मैच में 28 विकेट लिए हैं.

ऑफ साइड के भगवान कहे जाने वाले पूर्व खब्बू बल्लेबाज और भारतीय कप्तान सौरव गांगुली को इंडियन क्रिकेट की मजबूती के लिए कई बड़े कदम उठाने के लिए जाना जाता है.

Sourav Ganguly
Sourav Ganguly

गांगुली ने अपने शुरुआती करियर दौर में कई बार भारत के लिए दूसरे तेज गेंदबाज की भूमिका भी निभाई थी. हालांकि बाद में गांगुली ने गेंदबाजी करना एकदम ही कम कर दिया था. सौरव गांगुली ने भारत के लिए 113 टेस्ट तो वहीं 311 वनडे खेले हैं. इस दौरान उन्होंने अपनी मध्यम गति वाली गेंदों से 132 विकेट लिए हैं.

मोहम्मद हफीज पिछले 15 सालों से पाकिस्तान के टॉप ऑर्डर में बल्लेबाजी करते हुए आए हैं. हालांकि इस दौरान उन्हें कई बार खराब फार्म के चलते टीम से बाहर भी बैठना पड़ा है. उनके नाम कई शून्य भी दर्ज हैं. हालांकि उनकी गेंदबाजी लेकिन हमेशा से ही शानदार रही थी.

Mohammad Hafeez
Mohammad Hafeez

हफीज को लेफ्ट हैंड के बल्लेबाजों को काल माना जाता है. हफीज ने पाकिस्तान कई मुकाबलों में अकेले ही जीत दिलाई है गेंद और बल्ले से भी. हालांकि हफीज पार्ट टाइम ही बॉलिंग करते थे इसलिए उन्हें कभी भी ऑल-राउंडर का दर्जा नहीं मिल पाया. इन्होंने अपने इंटरनेशनल करियर में कुल 245 विकेट लिए हैं. इनके नाम 55 टेस्ट में 53 तो 218 वनडे में 139 विकेट के साथ 113 टी-20 में 50 विकेट दर्ज है.

एंड्रयू साइमंड्स ऑस्ट्रलिया के पूर्व दिग्गज रह चुके हैं. फिल्हाल इनका क्रिकेट का करियर काफी ज्यादा विवादों से घिरा रहा हमेशा ही. साइमंड्स को शराब की बुरी लत थी. इसके चलते उनकी जिंदगी कुछ अच्छे लम्हें भी खराब हो गए थे. हरभजन पाजी के साथ हुआ उनका ‘मंकी गेट’ विवाद आज भी काफी ज्यादा चर्चा में रहता है.

Andrew Symonds
Andrew Symonds

एंड्रयू शानदार बल्लेबाज थे. इनकी गेंदबाजी स्टाइल की बात करें तो मीडियम पेस और ऑफ स्पिन दोनों ही तरह की बॉलिंग में माहिर थे. एक पार्ट टाइम गेंदबाज के तौर पर इन्होंने 26 टेस्ट मैचों में 24 विकेट जबकि 198 वनडे में 133 विकेट और 14 टी-20 मैचों में 8 विकेट हासिल किए थे.

ये भी पढ़ें : वो 5 भारतीय बल्लेबाज जो वनडे में भी खेलते थे टेस्ट, स्ट्राइक रेट देख शर्म आ जाए

 

 

error: Content is protected !!