चोट से परेशान चल रहे हैं MS Dhoni, 40 रुपए वाले वैद्द से करवा रहे इलाज

टीम इंडिया के दिग्गज पूर्व बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) इन दिनों अपने घुटने के दर्द से काफी ज्यादा परेशान हैं. अपने घुटनों का इलाज वो रांची के सुदूर गांव में पेड़ के नीचे बैठकर मरीजों का इलाज करने वाले वैद्द से करवा रहे हैं. क्रिकेट से दूर रहने वाले एम एस धोनी अपने घुटने के दर्द की वजह से सुर्खियों में हैं.

इलाज करवा रहे हैं MS Dhoni

एम एस धोनी का इलाज वैद्द बंधन सिंह खरवार कर रहे हैं. वो कहते हैं कि जंगली जड़ी-बूटियों की मदद से ही वो कप्तान का इला कर रहे हैं. अपने बाकी मरीजों की ही तरह वो धोनी से भी एक खुराक का बस 40 रुपए ही चार्ज करते हैं.

आपको बता दें कि वैद्य बंधन सिंह खरवार रांची से लगभग 70 किलोमीटर दूर लापुंग थाना क्षेत्र के कातिंगकेला में पिछले 28 सालों से पेड़ के नीचे तिरपाल का टेंट लगाकर कई तरह की बीमारियों का इलाज करते हैं.

MS Dhoni Vaidya

बंधन बताते हैं कि पिछले एक महीने से हर चार दिन पर कप्तान धोनी उनके पास दवा की खुराक लेने आते हैं. वैद्द बताते हैं कि जो दवा वो बनाते हैं उसे घर नहीं ले जाया जा सकता है. कप्तान से पहले उनके माता-पिता भी यहीं से इलाज करवाया करते थे. माता-पिता का इलाज सफल रहा था तो धोनी ने भी यहीं की रास्ता पकड़ा. वैद्य बंधन सिंह खेरवार ने कहा कि वह शुरू में न तो धोनी के माता-पिता को पहचानते थे और न ही पहली बार में धोनी को पहचान पाए.

वैद्द बंधन सिंह बताते हैं कि उन्हें धोनी ने कभी अपने बारे में कुछ भी नहीं बताया. वो तो आस-पास के युवा जब उनके साथ आकर सेल्फी और तस्वीरें लेने लगे तब वैद्द जी को जानकारी हुई. वैद्य के अनुसार, धोनी बिना किसी तामझाम के सामान्य मरीज की तरह आते हैं. उनमें बड़ा आदमी होने का कोई गुरुर नहीं है.

वो कहते हैं कि अब हर चार दिन पर धोनी (MS Dhoni) के यहां आने की वजह से यहां मेरे कुटिया के पास काफी ज्यादा भीड़ हो जाती है. इसलिए अब वह गांव पहुंचकर गाड़ी में ही बैठते हैं, जहां उन्हें दवा की खुराक दी जाती है. पिछले एक महीने के दौरान गांव के कई लोगों ने उनके साथ तस्वीरें खिंचवाई हैं.

Read Also: 5वें टेस्ट के लिए BCCI ने बुमराह को घोषित किया कप्तान, ऐसी होगी प्लेइंग-11

error: Content is protected !!