गरीबी में ड्राइवर का काम कर रहा है Dhoni का दोस्त, Sehwag के साथ किया था धोखा

MS Dhoni friend Suraj Randiv: श्रीलंका इस वक़्त सबसे खराब आर्थिक संकट से गुजर रहा है। श्रीलंका के कई खिलाड़ी और पूर्व क्रिकेटर अब क्रिकेट छोड़कर दूसरे काम करने लगे हैं। कुछ को गुजारा चलाने के लिए ड्राइवर बनने के लिए मजबूर होना पड़ा। कभी धोनी (Dhoni) के खिलाफ विश्व कप और आईपीएल में सीएसके के लिए खेल चुका एक खिलाड़ी ऑस्‍ट्रेलिया में बस ड्राईवर बन गया है। श्रीलंका के इस क्रिकेटर का नाम सूरज रणदीव है।

धोनी का ये दोस्त ड्राइवरी करने के लिए मजबूर

कभी श्रीलंका के लिए क्रिकेट खेलने वाले सूरज रणदीव (Suraj Randiv) अब बस ड्राइवर बन गए हैं। पूर्व स्पिनर सूरज रणदीव वर्ष 2019 में ऑस्ट्रेलिया चले गए थे, वहां उन्होंने बस ड्राइवरी करने के साथ  एक लोकल क्लब के लिए क्रिकेट भी खेला था। उन्होंने श्रीलंका के लिए 12 टेस्ट में 46 विकेट,  31 वनडे में 36 विकेट और 7 टी20 मैचों में 7 विकेट चटकाएं थे।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Suraj Randiv (@surajrandiv)

वीरू के साथ ऐसे की थी बेइमानी

सूरज रणदीव को भारतीय क्रिकेट के फैंस उस नो बॉल की वजह से जानते हैं, जिसने सहवाग को शतक से महरूम कर दिया था। सूरज रणदीव उस समय सुर्ख़ियों में आएं जब उन्हें जानबूझकरनो नो बॉल फेंकने के आरोप में पकड़ा गया। बता दें कि  दिलशान के कहने पर सूरज रणदीव ने नो बॉल फेंक सहवाग का शतक पूरा नहीं होने दिया था।

उस समय सहवाग 99 रन पर बल्लेबाजी कर रहे थे और भारत को जीत के लिए 1 रन की दरकार थी। ऐसे में सहवाग शतक से एक रन से चूक गएँ, हलांकि टीम इंडिया को मैच में जीत हासिल हो गई। वहीँ रणदीव ने दावा किया था कि दिलशान ने साजिश रचते हुए नो बॉल फेंकने की सलाह दी और उनके कहने पर ही उन्होंने ऐसा किया, लेकिन सहवाग ने उस पर छक्का जड़ दिया। बाद में अंपायरों ने भारत को विजयी घोषित किया लेकिन नो बॉल की वजह से छक्का रनों में नहीं जोड़ा गया।

दिलशान पर भी लिया गया था एक्शन

सूरज रणदीव को श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने एक मैच के लिए निलंबित कर दिया था, वहीँ तिलकरत्ने दिलशान पर जुर्मना लगाया गया था। इसके बाद पूरी दुनिया में सूरज रणदीव बदनाम हो गए। वहीँ 2011 वर्ल्डकप के फाइनल में टीम में अचानक उन्हें टीम में शामिल कर लिया गया। फिर भी वह बतौर क्रिकेटर सफल नहीं हो सके और आज ऑस्ट्रेलिया में बस ड्राइवर के तौर पर काम करने को मजबूर हैं।

Read Also: खुद को हार का कारण नहीं मानते Rishabh Pant, गेंदबाजों को बताया जिम्मेदार

error: Content is protected !!