‘मैन ऑफ द मैच’ बने अक्षर पटेल ने कोच और कप्तान को किया नजरअंदाज, बोले- मैं 2 तरीके का ऑलराउंडर हूं

5 मैच की टी20 सीरीज का समापन हो चुका है. भारत ने वेस्टइंडीज को अमेरिका में खेले गए लॉडरहिल के मुकाबले में एक बार फिर से मात दे दी. भारतीय टीम ने 5 टी20 मुकाबले को भी एक बार फिर से एकतरफा बना दिया. टीम इंडिया ने ये मुकाबला 88 रनों से जीता. इस जीत की वजह से भारतीय टीम ने सीरीज 4-1 से जीत ली. (अक्षर पटेल)

5वें टी20 मुकाबले के लिए रोहित शर्मा को रेस्ट दिया गया था. जिसकी वजह से कार्यवाहक कप्तानी हार्दिक पांड्या ने संभाली. टीम इंडिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए श्रेयस अय्यर के 64 और दीपक हुड्डा के 38 रनों की बदौलत 188 रन बनाए थे. जवाब में वेस्टइंडीज की टीम 100 रन बनाकर बंडल हो गई.


भारतीय स्पिनर्स ने शानदार काम करते हुए पूरी की पूरी टीम समेट दी 9.4 ओवर में जी हां. ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि सारे के सारे विकेट स्पिनर्स ने ही लिए. अक्षर पटेल, कुलदीप यादव ने 3-3 विकेट तो वहीं रवि बिश्नोई ने 4 विकेट अपने नाम किए.

क्या बोले अक्षर पटेल?

मैं बहुत सी चीजों को आजमाने के बजाए सिर्फ चीजों को सरल रखने पर ध्यान दे रहा था. बस अपने फायदे के लिए सतह का इस्तेमाल करना चाह रहा था. सतहें (इस श्रृंखला में) मेरे लिए मददगार रही हैं, इसलिए यह मेरे लिए फायदेमंद साबित हुई है. वनडे और टी20 दोनों में पिचें काफी समान थीं. मुझे इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि लोग मुझे सिर्फ एक ऑलराउंडर कहते हैं, अगर मैं गेंद से अच्छा करता हूं, तो मैं बॉलिंग ऑलराउंडर बनूंगा, अगर बल्ले से, तो बैटिंग ऑलराउंडर. आपको बता दें कि इस सीरीज में अक्षर पटेल कई बार गेंद और बल्ले दोनों से चमके हैं.

Read More: 6 छक्के खाकर हीरो बना ‘0’, 2 मैच बाह इस खिलाड़ी की दुर्दशा देख दया आएगी, Video

error: Content is protected !!