टॉस पर इंग्लैंड के पूर्व खिलाड़ी ने की ‘जस्सी की बेईज्जती’, बुमराह का जवाब सुन निकली ‘सुसु’

जसप्रीत बुमराह का भारत के कप्तान के तौर पर पहला टॉस एक यादगार पल रहा, क्योंकि इस दौरान जब वह इंग्लैंड के पूर्व सलामी बल्लेबाज मार्क बुचर से बातचीत के दौरान कुछ ऐसा बोल गए, जिसमें दोनों के बीच हल्की बहस नजर आई। दरअसल, जब मार्क ने बुमराह को बतौर तेज़ बॉलर होते हुए टीम की कप्तानी संभलाने के लिए बधाई दी, तो इस पर जवाब देते हुए बुमराह ने कहा कपिल देव भी ऐसा कर चुके हैं। वहीँ जिसके बाद बुचर भी नहीं रुकें और बताया कि कपिल एक ऑलराउंडर थे। आइए जानते हैं उनके बीच हुए कुछ मजेदार सवाल-जवाब के बारे में-

बुचर- बधाई हो! कप्तान के रूप में अक्सर हमारे पास तेज गेंदबाज नहीं होते हैं, लेकिन भारत से कभी कोई तेज़ गेंदबाज़ कप्तान नहीं हुआ है।

बुमराह: खैर, पहले भी ऐसा हो चुका है, कपिल देव भी बतौर तेज़ गेंदबाज़ कप्तान रह चुके हैं।

बुचर: वह एक ऑलराउंडर थे।

बुमराह: अगर आप ऐसा कहते हैं, तो ऑलराउंडर ही सही।

 

बता दें कि बुचर का दावा भी गलत नहीं था, क्योंकि कपिल देव को कभी भी एक तेज़ गेंदबाज़ के तौर पर नही देखा गया था। हकीकत में आज भी उन्हें भारत के लिए एक सबसे बेहतरीन ऑलराउंडर माना जाता है। कपिल देव का रिकॉर्ड देखा जाए तो उन्होंने 5248 रन के साथ ही 434 विकेट हासिल की थी। वहीँ 1983 विश्व कप विजेता कप्तान ने आखिरी बार 986 में एक टेस्ट में भारत का नेतृत्व किया था।

वहीँ दूसरी तरफ बुमराह को भी गलत नहीं कहा जा सकता है, क्योंकि एक कपिल देव ही ऐसे फ़ास्ट बॉलर थे जिन्होंने भारत का टेस्ट क्रिकेट में नेतृत्व किया था। वहीँ कपिल के बाद ये मौका बुमराह को मिला है। जिस पर उन्होंने बात करते हुए कहा कि यह एक अच्छा एहसास है और बेहद ही आसाधारण है, क्योंकि इससे बेहतर कुछ नहीं हो सकता है।

Read Also: Ind vs Eng: बुमराह, शमी और सिराज की गेंदों से निकली आग, इंग्लैंड की आधी टीम ने टेके घुटने

error: Content is protected !!