‘तब सचिन का ऑटोग्राफ लेना चाहता था, फिर सोचा मेरा इंप्रेशन खराब होगा’-Brett Lee

क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) को लेकर ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली (Brett Lee) ने एक बड़ा खुलासा किया है, जिसमें उन्होंने बताया कि साल 1999 में एक बार वह सचिन तेंदुलकर का ऑटोग्राफ लेना चाहते थे, फिर बस इस वजह से रुक गए कि कहीं उनका इंप्रेशन नहीं खराब हो जाए।

सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) और ब्रेट ली (Brett Lee) की राइवलरी काफी तगड़ी थी। जब भी ऑस्ट्रेलिया और भारत की टीमें आमने-सामने होती थीं तो तेंदुलकर और ब्रेट ली के बीच की राइवलरी देखने लायक होती थी। ब्रेट ली किसी ना किसी तरह से तेंदुलकर को आउट करने की कोशिश जरूर करते थे।

ब्रेट ली और सचिन तेंदुलकर के बीच प्रतिद्वंद्विता बहुत मजबूत थी। वहीँ जब भारत और ऑस्ट्रेलिया की टीम एक दूसरे के सामने होती, तो दोनों खिलाड़ी के बीच का मुकाबला काफी रोमांचक होता था। जहाँ तेंदुलकर मैदान में अड़े रहते थे, तो वहीँ ब्रेट ली अपनी गेंद से उनको आउट करने की पूरी कोशिश करते थे।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Brett Lee (@brettlee_58)

ऑस्ट्रेलिया के लिएजब 1999 मेंब्रेट ली नेअपना टेस्ट डेब्यू किया, तो उस समय ही सिडनी टेस्ट मैच में सचिन ने शतक भी जड़ा था।ब्रेट ली कोइस सीरीज की शुरूआत से पहले 3 दिवसीय प्रैक्टिस मैच मेंसचिन तेंदुलकर के खिलाफ बॉलिंग करने के मौका मिला था। जो उनके लिए एक फैन बॉय वाला पल था और इस दौरान ही सचिन का ऑटोग्राफ लेना चाहते थे, लेकिन उन्होंने खुद को ऐसा करने से रोक लिया।

ब्रेट ली (Brett Lee) उस सीरीज को याद करते हुए अपने यू-ट्यूब चैनल पर कहा,मैं 1999 मेंपहली बारसचिन तेंदुलकर से मिला था और प्राइम मिनिस्टर इलेवन के लिए कैनबरा में भारत के खिलाफ खेल रहा था, जिसमें सचिन भी शामिल थे, जब वह बैटिंग करने आए तो मुझे एहसास हुआ कि मै इस खिलाड़ी को बॉल फेकने जा रहा हूँअ और मैं हकीकत में उनका ऑटोग्राफ लेना चाहता था। जिसके बाद मैंने सोच कि सचिन से बॉल पर साइन करने की रिक्वेस्ट करूँगा लेकिन मेरा मन फिर इसलिए बदल गया कि तेंदुलकर पर मेरा पहला इंप्रेशन अच्छा नहीं होगा।

Read More: शिव के सूचक ‘भुवनेश्वर’ की कोई तो बात करो, बंदे के आगे कोई रन नहीं बना पाता

error: Content is protected !!