‘उसकी कद्र करो वरना अमेरिका के लिए खेलेगा’ BCCI पर भड़के सबा करीम

चोट के कारण भारतीय टीम से लंबे समय से बाहर रहने के बाद केएल राहुल अब पूरी तरह से ठीक हो गए है। उन्होंने अपनी फिटनेस टेस्ट पास करने के बाद जिम्बाब्वे दौरे के लिए अभ्यास करना शुरू कर दिया है। वहीं अब उनकी वापसी के बाद बीसीसीआई ने शिखर धवन को हटाकर केएल राहुल को टीम की कमान सौंप दी है जबकि धवन को उपकप्तान बनाया गया है। लेकिन बीसीसीआई के इस फैसले से पूर्व चयनकर्ता नाखुश हैं।

पूर्व चयनकर्ता सबा करीम का मानना है कि शिखर धवन को कप्तानी से हटाने का फैसला सही नहीं है। उन्होंने कहा कि कप्तान के रूप में सीमित ओवरों के क्रिकेट में बेहतरीन प्रदर्शन करने के बाद धवन को कप्तान बनाए रखना चाहिए था। सबा करीम ने आगे कहा कि राहुल को बतौर खिलाड़ी टीम में होना चाहिए था।

सबा करीम ने BCCI को लगाया फटकार

सबा करीम ने इंडिया न्‍यूज स्‍पोर्ट्स से बातचीत में कहा, ‘केएल राहुल केवल टीम का सदस्‍य बनकर भी सीरीज खेल सकते थे। उन्‍हें कप्‍तान या उप-कप्‍तान बनाना जरूरी नहीं था। वो लंबे समय के बाद वापसी कर रहे हैं। शिखर धवन टीम के सीनियर सदस्‍य हैं, जिन्‍होंने सफेद गेंद क्रिकेट में दमदार प्रदर्शन किया है। आपने जब एक बार कप्‍तान की घोषणा कर दी थी तो उसे महत्‍व देना चाहिए था।’

करीम ने आगे कहा, ‘मैं यह भी कहना चाहूंगा कि शिखर धवन ने वेस्‍टइंडीज के खिलाफ वनडे सीरीज में भारतीय टीम का शानदार ढंग से नेतृत्‍व किया। उन्‍होंने बल्‍ले से भी दमदार प्रदर्शन किया। भारत ने कई युवाओं के साथ में वेस्‍टइंडीज का क्‍लीन स्‍वीप किया। धवन की कप्‍तानी में कई युवाओं ने शानदार खेला। धवन भी पूरे नियंत्रण में दिखे। उन्‍होंने युवाओं को प्रेरित किया।’

सबा करीम ने आगे BCCI पर सवाल उठाते हुए कहा, ” कप्तानी की प्रवृत्ति में जिस तरह का बदलाव अजीब और संदिग्ध है। इस तरह के फैसले बहुत सोच समझकर लेने की जरूरत है। जल्दबाजी करने की जरूरत नहीं है क्योंकि यह टीम के माहौल से जुड़ा है, आपको टीम भावना का निर्माण करने की जरूरत है। एक कप्तान आगामी मैचों के लिए अपनी योजनाओं के बारे में सोचना शुरू करता है और फिर आप अचानक बदलाव कर देते हैं। यह क्रिकेटर के मनोबल को प्रभावित करता है।”

 

error: Content is protected !!