खुलासा: MS Dhoni ने इस दिग्गज खिलाड़ी को टीम से बाहर करने के लिए रची थी साजिश! पूछने पर भी नहीं मिला जवाब

Harbhajan Singh blames MS Dhoni for ending his career:  भारतीय क्रिकेट टीम के दिग्गज ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने क्रिकेट को अलविदा कह दिया है. भज्जी पाजी (Harbhajan Singh) ने भारत के लिए 103 टेस्ट, 236 वनडे और 28 टी-20 इंटरनेशनल मैंच खेले थे. हरभजन की जगह टीम में 2011 विश्व कप के बाद चली गई थी. इसके बाद भज्जी पाजी लगातार 5 साल तक संघर्ष करते रहे वापस अपनी जहग पाने के लिए.

भज्जी पाजी ने 2011 विश्व कप के बाद महज 10 वनडे और 10 टेस्ट मैच ही खेले हैं. जबकि उन्हें 2013 की चैंपियंस ट्राफी से बिना किसी प्रेस रिलीज के टीम से निकाल दिया गया था. ऐसे में भज्जी ने अब खुद को टीम से बाहर किए जाने पर बड़ा खुलासा किया है.

रहस्यमयी है ये कहानी

भज्जी ने बातचीत के दौरान बताया कि 400 विकेट लेने वाले खिलाड़ी को आप टीम से कैसे बाहर निकाल सकते हैं? ये कहानी अपने आप में ही रहस्यमयी है. ये कहानी अभी तक बाहर आई ही नहीं है. मुझे आज भी काफी हैरानी होती है कि आखिर सच में हुआ क्या? आखिर मेरे रहने से टीम में किसे दिक्कत होने लगी है.

कप्तान महेंद्र सिंह धोनी से नहीं मिला था कोई जवाब

भज्जी ने आगे अपनी बातचीत में बताया कि उन्होंने कप्तान (MS Dhoni) से इस विषय पर कई बार बात करने की कोशिश की मगर उन्होंने कभी भी इसकी वजह नहीं बताई मुझे. इससे एक बात तो साफ हो गई थी कि इन सब चीजों के पीछे कौन था.

हाल ही में भज्जी ने लिया है संन्यास

विश्वभर में दिग्गज माने जाने वाले हरभजन सिंह ने हाल ही में हर तरह के क्रिकेट से संन्यास ले लिया है. भज्जी भारत की ओर से टेस्ट में सबसे ज्यादा विकेट लेने की सूची में चौथा स्थान पा रखा है. भज्जी ने अपना आखिरी इंटरनेशनल मैंच साल 2016 में यूएई के खिलाफ एशिया कप टी-20 में खेला था.

इतना ही भारत के लिए टेस्ट क्रिकेट में हैट्रिक लेने वाले भज्जी पाजी पहले गेंदबाज थे. साल 2001 में भज्जी ने बॉर्डर-गावस्कर सीरीज के दौरान ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेलते हुए महज 3 मैंचों में रिकॉर्ड 32 विकेट चटका दिए थे. इतना ही नहीं भज्जी साल 2007 के टी-20 विश्वकप में भी टीम का हिस्सा थे.

ये भी पढ़ें : घर में भूत देख चुके हैं Rajiv Adatia, Nishant और Umar, कहा-‘छोटी बच्ची मेरे पास से…’

ये भी पढ़ें : KL Rahul ने Player of the Match चुने जाने के बाद दिया बड़ा बयान

error: Content is protected !!