‘वक्त आ गया है कि RCB अब Virat Kohli से परे सोचे’, Jadeja को खरीदे और निखारे

IPL शुरू हुए 15 साल हो गया है. वक्त आ गया है कि RCB अब Virat Kohli के आगे सोचे, ये हम नफरत में नहीं प्यार में बोल रहे हैं. जानिए क्यों इसी में दोनों का भला है.

IPL  2022 की कहानी भी RCB के लिए उसी तरह रही है जैसे पिछले 15 साल रहे हैं. RCB इस साल फिर से किस्मत के दम पर प्लेऑफ में पहुंची और वहां आकर चोक कर गयी. बीती रात खेले गए क्वालीफायर-2 में Rajasthan Royals ने RCB को बुरी तरह से हरा दिया. इस हार के साथ ही ‘ई साल कप नमदे’ का सपना एक बार फिर से RCB का टूट गया.

फिल्हाल ये तो होना लिखा ही था. क्योंकि टॉप ऑर्डर का कोई बल्लेबाज इस सीजन में RCB के लिए रन नहीं बना पाया है. जो मैच RCB ने जीते भी हैं उसमें कोई न कोई युवा खिलाड़ी अपना दम दिखाता हुआ नजर आ रहा है. ऐसे में ये टीम IPL जीतना तो बिल्कुल भी डिजर्व तो नहीं करती थी. लेकिन इनके फैंस के लिए दिल हार बार दुखता है.

फिल्हाल IPL शुरू हुए 15 साल हो गए हैं. ऐसे में RCB अभी भी अपने पुराने फार्मूले पर चल रही है. शायद वक्त आ गया है कि वो अब अपना पुराना फार्मूला बदल ले. जी हां, जिस फार्मूले की हम बात कर रहे हैं वो ये है कि बड़े-बड़े स्टार्स को खरीद लो और फिर वो फ्लॉप हो जांए. इस कड़ी में इस सीजन फाफ डु प्लेसिस और ग्लेन मैक्सवेल का नाम साबित है. RCB के मैनेजमेंट को अपनी रणनीति बदलकर अब भारतीय खिलाड़ियों पर ज्यादा निवेश करना चाहिए. जैसे कि रजत पाटीदार, शहबाज अहमद.

RCB को छोड़ना होगा Virat Kohli का साथ

यूं तो RCB को विराट कोहली (Virat Kohli) से प्यार है और विराट कोहली को RCB से. लेकिन हकीकत यही है कि अब दोनों को ही एक-दूसरे के साथ छोड़ देना चाहिए. ऐसा इसलिए भी जरूरी है क्योंकि विराट कोहली की वजह से RCB को हमेशा दवाब में रहना पड़ता है कि ये टीम अच्छा करेगी. तो वहीं विराट कोहली के RCB छोड़ना इसलिए सही रहेगा क्योंकि उन्हें इस टीम की हार की वजह से काफी ज्यादा ट्रोल होना पड़ता है.

जिससे किसी भी खिलाड़ी की मानसिक स्थिती खराब हो सकती है. साथ ही पिछेल तीन साल से चीकू बल्ले से इस टीम के लिए कुछ भी नहीं कर पा रहे हैं. ऐसे में RCB अगर इनका साथ छोड़ देती है तो ये इनके लिए एक सबक भी साबित हो सकता है. उसके बाद सबको पता है कि विराट कोहली दवाब में हमेशा निखरते हैं बिखरने की जगह.

IPL 2023 Ravindra Jadeja और लोकल खिलाड़ियों पर डालनी चाहिए नजर

अगर RCB को अच्छी टीम गठित करनी है तो उसे लोकल खिलाड़ियों पर ज्यादा नजर डालनी होगी. इस साल CSK और Ravindra Jadeja में काफी ज्यादा मनमुटाव रहा है. ऐसे में लाजमी हैं कि ये फ्रैंजाइजी जडेजा को जाने दे. ऐसे में RCB को रवींद्र जडेजा को टारगेट करना चाहिए एक कैप्टन मैटिरयल के तौर पर. CSK में भले MS Dhoni ने अपनी दादागिरी दिखाई हो मगर RCB के लिए जड्डू गोल्ड साबित हो सकते हैं.

तो वहीं अगर लोकल खिलाड़ियों की बात करें तो Royal Challengers Banglore को मनीष पांडे, करुण नायर गेंदबाजी में ईशांत शर्मा और जितने भी गेंदबाज टीम इंडिया के इर्द-गिर्द हैं उन्हें टारगेट करना चाहिए. क्योंकि हमने ये हमेशा ही देखा है कि जब मैच मुश्किल हालतों में फंसता है तो अनुभव ही काम आता है. लोकल खिलाड़ियों का सबसे बेहतरीन उदाहरण हैं हर्षल पटेल जिन्होंने टीम के लिए लगातार दो सीजन में अच्छा काम किया है.

Read Also: फाइनल से पहले Saha ने छोड़ा अपनी टीम का साथ, व्हाट्सएप ग्रुप से भी किया एग्जिट

error: Content is protected !!