‘Dhoni के आंखों से आंसू बहे जा रहे थे…रुक ही नहीं रहे थे, हमारे सबके रोंगटे खड़े हो गए’

MS Dhoni के बिना CSK और CSK के बिना धोनी. ये वो ही बात है कि जैसे ‘जल बिन मछली’. IPL की शुरुआत साल 2008 में हुई थी. तभी MS Dhoni को चेन्नई सुपर किंग्स ने खरीद लिया था और कप्तान बना दिया था. इनकी कप्तानी में चेन्नई ने 4 बार IPL खिताब भी अपने नाम किया है. इतना ही नहीं IPL 2022 और IPL 2022 को छोड़ दें चेन्नई ने हर सीजन में प्लेऑफ के लिए क्वालीफाई भी किया है.

आपको बता दें कि 15 साल के IPL इतिहास में धोनी ने दो साल राइजिंग पुणे सुपरजायंट्स के लिए खेले थे. ये साल था 2016 और 2017. दरअसल, चेन्नई और राजस्थान को स्पॉट फिक्सिंग की वजह से दो साल के लिए बैन कर दिया था. 2018 में चेन्नई ने वापसी की आईपीएल में साथ ही धोनी ने कप्तानी में भी वापसी की.

अब पुरानी बातों को याद करते हुए CSK के बैटिंग कोच ने माइकल हसी ने कहानी बताई है. वो बताते हैं कि 2018 की शुरुआत से पहले धोनी काफी ज्यादा इमोशनल हो गए थे. टीम मीटिंग में स्पीच देते वक्त वो रोने लगे थे. मैथ्यू हेडन के साथ बात करते वक्त माइकल हसी ने कहा कि मैं कहना चाहूंगा कि साल 2018 हमारे लिए खास था. क्योंकि हमारी टीम ने दो साल के बाद वापसी की थी. Read More: वीडियो: Bairstow ने बिना टिकट के ही दिखाई Ashwin को फिल्म, कैरम बॉल का उड़ा मजाक

हसी ने आगे बताया कि मुझे आज भी याद है…2018 के आईपीएल के शुरुआत से पहले धोनी भाषण दे रहे थे. धोनी उस वक्त सचमें काफी ज्यादा भावुक थे और उनकी आंखों से आंसू निकल रहे थे. तब मुझे बस यही मालूम था कि ये पल काफी ज्यादा खास है.

 

View this post on Instagram

 

A post shared by M S Dhoni (@mahi7781)

हसी कहते हैं कि वह सीजन हमारी पूरी टीम के लिए खास था. मेरे आज भी रोंगटे खड़े हो जाते हैं उस सीजन के बारे में सोचकर. उस सीजन धोनी ने शानदार बल्लेबाजी की थी और हमें लीग जिताई थी. हमारे लिए वो काफी ज्यादा स्पेशल था.

error: Content is protected !!