Cricket: 41 की औसत फिर भी कोहली नहीं खिलाते, राहुल को 35 पर भी टीम में लिया

Cricket News: विराट कोहली (Virat Kohli) भारतीय टेस्ट टीम के सफल कप्तान हैं. इनकी कप्तानी में टीम ने शानदार प्रर्दशन किया था. कई खिलाड़ियों का करियर इनकी कप्तानी खूब आगे बढ़ा तो वहीं एक खिलाड़ी ऐसा रह गया जिसे इस कप्तान ने कभी टीम में शामिल करने की कोशिश ही नहीं किया. ये खिलाड़ी 2018 से टेस्ट टीम से बाहर है और अब वापसी भी मुश्किल नजर आती है.

टीम इंडिया में इन दिनों सेलेक्शन काफी ज्यादा मुश्किल हो गया है. इससे भी ज्यादा मुश्किल टीम में अपनी जगह बरकरार रखना खिलाड़ी के लिए होता है. शिखर धवन (Shikhar Dhawan) इस कड़ी में सबसे बड़ा नाम हैं. 35 साल के शिखर धवन को एक वक्त में टीम इंडिया का सबसे बड़ा मैच विनर माना जाता था. इन्होंने अपना आखिरी टेस्ट में विराट कोहली की ही कप्तानी में खेला था. मगर एक-दो खराब सीजन के चलते उन्हें 2018 के बाद से टीम में शामिल ही नहीं किया गया है.

टेस्ट टीम में वापसी मुश्किल है

शिखर धवन ने अपना पहला टेस्ट मैच साल 2013 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला था. इस मैच में उन्होंने शानदार 187 रन बनाए थे. मगर अब केएल राहुल की वापसी के बाद से ही शिखर को टीम में मौका नहीं दिया जाता है. टेस्ट क्रिकेट में शिखर ने 34 मैच में 41 की औसत से 2300 से अधिक रन बनाए हैं, जिसमें इन्होंने शानदार 7 शतक लगाए हैं.

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Shikhar Dhawan (@shikhardofficial)

कई बार शिखर धवन ने मीडिया में ये सवाल भी उठाए हैं कि आखिर उन्हें 41 की औसत होने बावजूद टेस्ट टीम में शामिल क्यों नहीं किया जाता है? जब कि केएल राहुल और अंजिक्य रहाणे 30 की औसत होने के बावजूद भी टीम में शामिल कर लिए जाते हैं.

दूसरी ओर KL Rahul अभी तक 43 टेस्ट मैच में 35 की औसत से ही रन बना पाए हैं. उन्होंने भी 7 शतक लगाए हैं. (Test Cricket Updates)

Read Also: वो 3 खिलाड़ी जिन्हें साउथ अफ्रीका सीरीज में सिर्फ पानी पिलाने के लिए टीम में चुना गया है

error: Content is protected !!