भारत का ‘डायमंड’ जिसे पाकिस्तान मीडियम स्पिन गेंदबाज कहता था, उसकी स्विंग ने ही पाकिस्तान का गुल किया ‘डिब्बा’

भारतीय टीम के स्टार तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार (Bhuvneshwar Kumar) अपनी स्विंग गेंदबाजी के लिए जाने जाते हैं. वो टीम इंडिया के वर्तमान समय के सबसे सफल गेंदबाजों में से एक हैं. टी20 क्रिकेट में भुवनेश्वर कुमार की ख्याति अब तक कोई नहीं छीन पाया है.

किसी मुकाबले में 62 प्रतिशत भारत की जीत का श्रेय कुमार होते हैं, अगर वो पॉवरप्ले के ओवर में कम से कम दो विकेट निकालने में कामयाब रहते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं 32 वर्षीय गेंदबाज की ‘स्विंग गेंदबाजी’ को स्पिन गेंद कहकर उन्हें ट्रोल किया गया है?

स्विंग को लेकर ट्रोल हुए Bhuvneshwar Kumar

दरअसल, क्रिकेट मैच फैंस के लिए मनोरंजन साथ-साथ ट्रोल करने का जरिया बन चुका है. यह परंपरा अभी की नहीं है. जब से आधुनिक क्रिकेट का तकनीक का जुड़वा बढ़ा है तब से सोशल मीडिया क्रिकेट फैंस के लिए मुखर आवाज बनकर उभरा है. मैच के दौरान खिलाड़ियों के प्रदर्शन का लेखा-जोखा कोच और कप्तान के साथ-साथ सोशल मीडिया पर भी बैठकी होती है.

Bhuvneshwar Kumar Best Swing Bowler

हालाँकि, इस बैठकी में एक खास अंतर है. कोच और कप्तान मैच के दौरान प्लेयर्स की गलती को समझकर उन्हें ठीक करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं जबकि सोशल मीडिया पर होने बैठकी में प्लेयर्स को ट्रोल किया जाता है. इससे उनका कॉफिडेंस डगमगा जाता है.

दरअसल, भारतीय क्रिकेटर भुवनेश्वर कुमार भी सोशल मीडिया पर होने वाली इस बैठकी का शिकार हो चुके हैं. कुमार को इस ‘बैठकी’ में स्विंग गेंदबाज की जगह स्पिन गेंदबाज कहकर मजाक उड़ाया गया. वहीं, एशिया कप 2022 में पाकिस्तान के खिलाफ हुए मुकाबले में भुवनेश्वर (Bhuvneshwar Kumar) ने अपनी शानदार गेंदबाजी से ट्रोलर्स को करारा जवाब दिया है.

अपनी स्विंग गेंदबाजी से पाकिस्तान के उड़ाए परखच्चे

दरअसल, पाकिस्तानी के खिलाफ मुकाबले में भुवनेश्वर कुमार ने अपने टी20 करियर की शानदार गेंदबाजी की। उन्होंने चार ओवर के स्पेल महज 26 रन देकर चार विकेट अपने नाम किये। उन्होंने पाकिस्तानी बल्लेबाज बाबर आजम, आसिफ अली, एस खान और नसीम शाह को आउट किया।

Bhuvneshwar Kumar

अपने इस शानदार गेंदबाजी के बाद कुमार (Bhuvneshwar Kumar) ने कहा, “पहली गेंद डालने से पहले मुझे लगा कि यह स्विंग करने वाली है। कोई स्विंग नहीं थी लेकिन थोड़ा उछाल था। हमें पता था कि हमें विकेट दर विकेट गेंदबाजी करनी है, इसलिए शॉर्ट गेंदबाजी करने की योजना थी। पिच थोड़ी स्किड थी, और ईमानदारी से कहूं तो 147 का मतलब है कि हमने अंत में बहुत अधिक रन दिए।”

error: Content is protected !!